Sciatica (कटिस्नायुशूल) Treatment.

Date- 3/10/2018 5:06:36
Name-मदनलाल ; निवास -अजमेर राजस्थान; आयु – 41; प्रमुख रोग- साइटिका ;
प्रश्न - मुझे साइटिका** है मैने काफी उपचार करवाया आराम नही मिला
अवधि - तीन महीने ;
पता - मदनलाल कामड गांव बलवंता पोस्ट राजोसी जिला अजमेर राजस्थान ;
फोन/मोबायल 9214363930; ई मेल --;
उज्जैन आ सकेंगे| - हाँ
उत्तर :- आयुर्वेद चिकित्सा से यह रोग ठीक किया जा सकता है| ओषधि चिकित्सा एवं पत्र-पिंड स्वेद एवं विशेष व्यायाम किया जाता है| आपका रोग नया है इसलिए लाभ भी शीघ्र हो जायेगा|
आप हमारे धर्मार्थ चिकित्सालय में आकर चिकित्सा ले सकते हें| आने से पूर्व संपर्क करें|

**Sciatica:- pain affecting the back, hip, and outer side of the leg, caused by compression of a spinal nerve root in the lower back, often owing to degeneration of an intervertebral disk. The commonest cause of true sciatica is prolapse of intervertebral discs.
** कटिस्नायुशूल:- पीठ, कूल्हे, और पैर के बाहरी भागों की ओर को प्रभावित करने वाले दर्द, निम्न पीठ में रीढ़ की हड्डी स्थित तंत्रिका के संकोचन या दवने से होती है, सामान्यत: यह समस्या रीड की हड्डी के डिस्क के भ्रंश के कारण होती है|

 समस्त चिकित्सकीय सलाह, रोग निदान एवं चिकित्सा की जानकारी ज्ञान (शिक्षण) उद्देश्य से है| प्राधिकृत चिकित्सक से संपर्क के बाद ही प्रयोग में लें| इसका प्रकाशन जन हित में किया जा रहा है।
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

स्वास्थ /रोग विषयक प्रश्न यहाँ दर्ज कर सकते हें|

स्वास्थ है हमारा अधिकार

हमारा लक्ष्य सामान्य जन से लेकर प्रत्येक विशिष्ट जन को समग्र स्वस्थ्य का लाभ पहुँचाना है| पंचकर्म सहित आयुर्वेद चिकित्सा, स्वास्थय हेतु लाभकारी लेख, इच्छित को स्वास्थ्य प्रशिक्षण, और स्वास्थ्य विषयक जन जागरण करना है| आयुर्वेदिक चिकित्सा – यह आयुर्वेद विज्ञानं के रूप में विश्व की पुरातन चिकित्सा पद्ध्ति है, जो ‘समग्र शरीर’ (अर्थात शरीर, मन और आत्मा) को स्वस्थ्य करती है|

चिकित्सक सहयोगी बने:
- हमारे यहाँ देश भर से रोगी चिकित्सा परामर्श हेतु आते हैं,या परामर्श करते हें, सभी का उज्जैन आना अक्सर धन, समय आदि कारणों से संभव नहीं हो पाता, एसी स्थिति में आप हमारे सहयोगी बन सकते हें| यदि आप पंजीकृत आयुर्वेद स्नातक (न्यूनतम) हें! आप पंचकर्म केंद्र अथवा पंचकर्म और आयुर्वेदिक चिकित्सा प्रक्रियाओं जैसे अर्श- क्षार सूत्र, रक्त मोक्षण, अग्निकर्म, वमन, विरेचन, बस्ती, या शिरोधारा जैसे विशिष्ट स्नेहनादी माध्यम से चिकित्सा कार्य करते हें, तो आप संपर्क कर सकते हें| 9425379102/ mail- healthforalldrvyas@gmail.com केवल परामर्श चिकित्सा कार्य करने वाले चिकित्सक सम्पर्क न करें|