Rescue from incurable disease

Rescue from incurable disease
लाइलाज बीमारी से मुक्ति उपाय है - आयुर्वेद और पंचकर्म चिकित्सा |

Be careful about the fun foods?

आज से ही सोंचे आपको कैसा भविष्य/बुडापा चाहिए?
हमारी जिव्हा (जीभ) या रसना -
अर्थात स्वाद की अनुभूति (पता) करने वाला मुहं का यंत्र प्रकृति ने ज्ञान के लिए हमें दिया है, यह हमारी बोलने या भाषा द्वारा भावों को आदान प्रदान में भी सहायक होती है|
पर अधिकतर हम इसका दुरूपयोग करते हें, बोलेने से होने वाले लाभ हानी स्वास्थ्य के विचार से छोड़ दें, तो हम पायेंगें वर्तमान में जितने भी कष्ट रोग ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रोल, फिर हार्ट डिसीज, मोटापा या शरीर का प्रत्येक अंग किसी न किसी रोग से ग्रस्त होता है तो आदि होते हें उसके पीछे भी सिर्फ यही जिव्हा ही है|
हकीम लुक़मान का कहना है " आदमी अपनी जीभ से अपनी कब्र खोदता है"।

हममे से अधिकांश लोग, युवा वस्था में हम अधिकतर बिना विचारे सब कुछ खाते रहते हें, और उसे पचाने की क्षमता पर न तो विचार करते हें, न ही प्रयत्न करते हें, और यह सब होता है- हमारी जीभ के बेकाबू होने से ---
यह जीभ ही यदि हमारे काबू में आजाए तो अधिक मात्रा में और पोषक आहार के बदले चाहे जब "मिठाई, खटाई, चाट पकोड़ा, आचार चटनी की ओर लपकेंगे ही क्यों?"
सतत पार्टियों ओर घर में भी ये सब खाकर सभी को यह लगता भर है, की हमने जायकेदार ओर कीमती पकवान को खाकर आज बड़ा ही मजा किया। पर वस्तुत: यह अपने हाथ से अपने पेरों पर कुल्हाड़ी मारने जेसा है।
"माले मुफ्त तो दिले बेरहम"
माल यदि खाने मुफ्त भी मिल जाए तो सोचो भाई पेट तो अपना है।
यह भी सही है की यदि हम यदि हम थोड़ी मात्रा में केवल स्वाद के लिए प्रशाद के रूप में सभी अन्य खानों के आनंद के पूर्व, पोषक और आवश्यक आहार खा लें, तो भयानक रोगों से बचा जा सकता है|
अच्छे स्वास्थ्य के लिए कभी कभी और पार्टी आदि में भी चाट पकोड़ा, मटन मीट आदि आदि का आनंद उठाने के पहिले आवश्यक मात्रा में यदि संतुलित समान्य खाना खाया जाये तो, हमारी जीभ के ऊपर रोगी बनाने का दोष नहीं लगेगा|
जीभ पर नियन्त्रण कर आज से ही सोंचे आपको कैसा भविष्य/बुडापा चाहिए?

समस्त चिकित्सकीय सलाह, रोग निदान एवं चिकित्सा की जानकारी ज्ञान (शिक्षण) उद्देश्य से है| प्राधिकृत चिकित्सक से संपर्क के बाद ही प्रयोग में लें| इसका प्रकाशन जन हित में किया जा रहा है।

Book a Appointment.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

स्वास्थ /रोग विषयक प्रश्न यहाँ दर्ज कर सकते हें|

स्वास्थ है हमारा अधिकार

हमारा लक्ष्य सामान्य जन से लेकर प्रत्येक विशिष्ट जन को समग्र स्वस्थ्य का लाभ पहुँचाना है| पंचकर्म सहित आयुर्वेद चिकित्सा, स्वास्थय हेतु लाभकारी लेख, इच्छित को स्वास्थ्य प्रशिक्षण, और स्वास्थ्य विषयक जन जागरण करना है| आयुर्वेदिक चिकित्सा – यह आयुर्वेद विज्ञानं के रूप में विश्व की पुरातन चिकित्सा पद्ध्ति है, जो ‘समग्र शरीर’ (अर्थात शरीर, मन और आत्मा) को स्वस्थ्य करती है|

चिकित्सक सहयोगी बने:
- हमारे यहाँ देश भर से रोगी चिकित्सा परामर्श हेतु आते हैं,या परामर्श करते हें, सभी का उज्जैन आना अक्सर धन, समय आदि कारणों से संभव नहीं हो पाता, एसी स्थिति में आप हमारे सहयोगी बन सकते हें| यदि आप पंजीकृत आयुर्वेद स्नातक (न्यूनतम) हें! आप पंचकर्म केंद्र अथवा पंचकर्म और आयुर्वेदिक चिकित्सा प्रक्रियाओं जैसे अर्श- क्षार सूत्र, रक्त मोक्षण, अग्निकर्म, वमन, विरेचन, बस्ती, या शिरोधारा जैसे विशिष्ट स्नेहनादी माध्यम से चिकित्सा कार्य करते हें, तो आप संपर्क कर सकते हें| 9425379102/ mail- healthforalldrvyas@gmail.com केवल परामर्श चिकित्सा कार्य करने वाले चिकित्सक सम्पर्क न करें|